पिछली सरकारों की सोच परिवार तक, हमारी 24 करोड़ जनता के विकास की: सीएम योगी

मुख्‍यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने कहा कि पिछली सरकार विकास के बारे में नहीं सोचती थीं। उनकी सोच अपने परिवार तक ही समिति थी। जबकि हमारी सरकार की सोच प्रदेश के 24 करोड़ की जनता के विकास की सोच है। पिछली सरकारों में दंगों को प्रोत्‍साहित करके प्रदेश की छवि को धूमिल करने काम किया गया। पर्व और त्योहारों पर दंगों की बाढ़ आ जाती थी, लेकिन हमारी सरकार में यूपी में कोई दंगा नहीं हुआ।

सीएम योगी ने यह बातें रविवार को सिद्धार्थनगर जिले के डुमरियागंज स्थित राजकीय इंटर कॉलेज में कहीं। इस दौरान उन्होंने जिले की पांच विधानसभाओं में होने वाली 524.07 करोड़ रुपए की 300 विकास परियोजनाओं का लोकार्पण और शिलान्‍यास किया। उन्होंने कहा कि गरीबों की और सरकारी जमीन को माफियाओं से मुक्‍त कराने के लिए एंटी भू माफिया टास्‍क फोर्स का गठन किया गया। माफियाओं के कब्‍जे से 64 हजार हेक्‍टेयर भूमि को मुक्‍त कराया गया। किसी गरीब या सरकारी भूमि पर किसी माफिया ने हवेली बनाई, तो हमारी सरकार ने उस पर बुलडोजर चलाने का काम किया है।
इस दौरान सांसद जगदंबिका पाल, बेसिक शिक्षा मंत्री डॉ. सतीश चंद्र द्विवेदी, जिला पंचायत अध्यक्ष शीतल सिंह, डुमरियागंज विधायक राघवेंद्र प्रताप सिंह, विधायक श्याम धनी राही, चौधरी अमर सिंह, भाजपा जिला अध्यक्ष गोविंद माधव आदि मौजूद थे।

सीएम योगी ने पूछा, राम भक्‍तों पर गोली चलाने वाले क्या मंदिर निर्माण कराते?

सीएम योगी ने कहा कि भाजपा सरकार में ही राम मंदिर निर्माण का सपना पूरा हो सका। उन्होंने लोगों से पूछा, राम भक्‍तों पर गोली चलाने वाले क्‍या अयोध्‍या में राम मंदिर का निर्माण करा पाते? पीएम मोदी के नेतृत्‍व में राम मंदिर का निर्माण कार्य का सपना पूरा हुआ है। भाजपा ने मंदिर निर्माण का जो वादा किया था, वह पूरा करके दिखा दिया है।

सीएम ने पूछा, सपा, बसपा व कांग्रेस की सरकार होती, तो इनका क्‍या हाल होता?

मुख्‍यमंत्री ने कहा कि 2017 से पहले गरीब भूख से मर रहे थे, कर्ज में दबे किसानों को आत्‍महत्‍या करना पड़ रही थी। 2017 में हमारी सरकार आने के बाद सबसे पहले 86 लाख किसानों का 34 हजार करोड़ रुपए का कर्ज माफ कर उनको राहत दी गई। आज कोई किसान आत्‍महत्‍या नहीं कर रहा। गरीबों को फ्री राशन दिया जा रहा। कोरोना काल खंड में बड़ी संख्‍या में प्रवासी कामगार व श्रमिकों अपने घरों का वापस आए थे। सपा, बसपा व कांग्रेस की सरकार होती, तो इनका क्‍या हाल होता?

काला नमक चावल पहुंचा वैश्विक मंच पर

मुख्‍यमंत्री ने कहा कि यहां सांसद, विधायक और जनप्रतिनिधियों के प्रयासों से मेडिकल कॉलेज का निर्माण संभव हो सका है। यहां के काला नमक चावल को वैश्विक मंच दिलाने में भी उनके काफी प्रयास शामिल रहे हैं। सरकार ने ओडीओपी योजना में काला नमक चावल को शामिल कर उसकी अंतरराष्ट्रीय स्‍तर पर ब्रांडिंग की। जिसकी बदौलत काला नमक चावल की धूम देश दुनिया में देखने को मिल रही है।

शहीदों की याद में बनेगा भव्‍य स्‍मारक

मुख्‍यमंत्री ने कहा कि 1858 में यहां के 80 वीर सपूतों ने अपनी शहादत देकर गुलामी की बेड़ियों को तोड़ने का काम किया था। ऐसे वीर सपूतों को याद करने के लिए पीएम मोदी ने आजादी के अमृत महोत्‍सव की शुरूआत की है। पूरे देश में आज अमृत महोत्‍सव मनाया जा रहा है। शहीदों की याद में डुमरियागंज में भव्य शहीद स्मारक बनाया जाएगा। इन शहीदों की गाथाओं से वर्तमान पीढ़ी को अवगत कराया जाएगा।

नेपाल समेत आसपास के जिलों के लोगों को सुगम तरीके से मिलेगा इलाज: सीएम

उन्होंने कहा कि किसी ने सोचा था कि यहां पर मेडिकल कॉलेज बनेगा। पिछली सरकारें यह सोचती, तो यहां मेडिकल कॉलेज बन गया होता, लेकिन उनकी सोच विकास की नहीं थी। यहां बन रहे मेडिकल कॉलेज का नाम माधव बाबू के नाम पर होगा। इस सत्र में मेडिकल कॉलेज चालू हो जाएगा। मेडिकल कॉलेज बनने के बाद नेपाल समेत आसपास के जिलों के लोगों को सुगम तरीके से इलाज मिल सकेगा। पहले बाढ़ की त्रासदी में यहां के लोगों तक सरकारी मदद नहीं पहुंच पाती थी, लेकिन हमारी सरकार में बाढ़ पीड़ितों तक हर संभव सहायता पहुंचाई गई।