योगी सरकार ने दिया संकल्‍प पत्र से लगभग पांच गुना अधिक रोजगार

विधान सभा चुनाव 2017 के संकल्‍प पत्र में भाजपा ने रोजगार और स्‍वरोजगार का जो वादा किया था योगी सरकार ने उससे लगभग पांच गुना अधिक रोजगार दिया। वह भी, केवल साढ़े चार साल के भीतर । योगी सरकार की रोजगारोन्‍मुखी नीतियों ने यूपी को देश का नया इंप्‍लायमेंट सेंटर बना दिया। कुछ साल पहले तक रोजगार के लिए भटक रहे प्रदेश के 3.12 करोड़ से अधिक युवाओं को साढ़े 4 साल में रोजगार दे कर भाजपा के चुनावी संकल्‍प पत्र के एक और वादे को समय से पहले और जबरदस्‍त अंदाज में पूरा किया।

2017 के विधान सभा चुनाव में भारतीय जनता पार्टी ने अपने लोक कल्‍याण संकल्‍प पत्र में 5 साल में 70 लाख रोजगार और स्‍वरोजगार देने का वादा किया था,लेकिन योगी सरकार ने साढ़े चार साल में साढ़े चार लाख सरकारी नौकरियों समेत 3 करोड़ से ज्‍यादा रोजगार देकर धमाकेदार अंदाज में पूरा कर दिया। राज्‍य सरकार अब तक 1 लाख से अधिक महिलाओं को सरकारी नौकरी दे चुकी है, जबकि मनरेगा के जरिये 1.50 करोड़ श्रमिकों को रोजगार से जोड़ा जा चुका है। स्टार्ट अप इकाईयों से 5 लाख और औद्योगिक इकाइयों से 3 लाख से अधिक युवाओं को भी रोजगार दिया जा चुका है। ओडीओपी के माध्यम से 25 लाख लोगों को रोज़गार मिला है। 50 लाख से अधिक एमएसएमई इकाइयों से 1 करोड़ 80 लाख लोगों को यूपी में रोज़गार मिला है। प्रदेश सरकार की नई उद्योग नीति से 5 लाख से ज़्यादा लोगों को रोज़गार दिया जा चुका है। 40 लाख से अधिक कामगारों/ श्रमिकों की स्किल मैपिंग के बाद रोजगार से जोड़ा गया है।
अगले 6 महीने में 1 लाख सरकारी नौकरी

यही नहीं पढ़ाई पूरी कर सरकारी नौकरी का इंतजार कर रहे युवाओं को योगी सरकार एक और बड़ी सौगात देने जा रही है। राज्‍य सरकार युवाओं के लिए एक लाख सरकारी नौकरियों की बड़ी खेप ला रही है। सरकार दिसंबर तक एक लाख सरकारी पदों पर भर्ती प्रक्रिया पूरी करने की तैयारी में है। कोरोना की दूसरी लहर थमने के साथ ही योगी सरकार ने अपने मिशन रोजगार की रफ्तार फिर बढ़ा दी है।
यूपी में अब तक हुई विभागवार भर्ती का ब्‍योरा
पुलिस विभाग -137253
बेसिक शिक्षा – 121000
राष्‍ट्रीय स्‍वास्‍थ्‍य मिशन -28622
यूपी लोक सेवा आयोग – 27168
उत्‍तर प्रदेश अधीनस्‍थ चयन बोर्ड -19917
चिकित्‍सा स्‍वास्‍थ्‍य एवं परिवार कल्‍याण -8556
माध्‍यमिक शिक्षा विभाग – 14436
यूपीपीसीएल – 6446
उच्‍च शिक्षा – 4988
चिकित्‍सा शिक्षा विभाग – 1112
सहकारिता विभाग – 726
नगर विकास – 700
सिंचाई एवं जल संसाधन-3309
अन्य – 8132
वित्‍त विभाग – 614
तकनीकी शिक्षा – 365
कृषि -. 2059
आयुष ,-1065
कुल – 384194
विभिन्‍न विभागों में 86000 पदों पर भर्ती की प्रक्रिया जारी है

ऐसे हुई रोजगार की बरसात

स्वरोजगार हेतु उद्यम सारथी ऐप की शुरुआत
प्रधानमंत्री रोजगार सृजन कार्यक्रम, मुख्यमंत्री युवा स्वरोजगार योजना, एक जनपद एक उत्पाद योजना, टूलकिट वितरण योजना, विश्वकर्मा श्रम सम्मान योजना के अन्तर्गत 180479 रोजगार के नये अवसर | 215517 उद्यमी लाभान्वित |
प्रदेश से 1 लाख 14 हजार करोड़ रु. से अधिक का निर्यात, जो पिछले वर्ष से 25 हजार करोड़ रु. अधिक है।
नोएडा में फिल्मसिटी की स्थापना से निवेश और रोजगार के नए अवसर
मल्‍टीनेशनल कंपनी आइकिया द्वारा नोएडा में 5500 करोड़ का निवेश |
कोरोना काल खण्ड में रु. 56 हजार करोड़ के निवेश प्रस्ताव
नोएडा में 6000 करोड़ रु. की लागत से उत्तर भारत के पहले स्टेट डेटा सेण्टर की स्थापना। 50 हजार युवाओं को रोजगार के अवसर
नोएडा सैमसंग मोबाइल यूनिट की स्थापना।

कौशल विकास
13 इन्क्यूबेटर्स स्टैंडअप कार्यरत । 336 तहसीलों में 79 कौशल विकास प्रशिक्षण केन्द्र व 74 जिलों में प्रधानमंत्री कौशल विकास केन्द्र क्रियाशील ।
प्रधानमंत्री मुद्रा योजना, स्टैण्ड-अप इण्डिया योजना, मुख्यमंत्री युवा स्वरोजगार योजना एवं प्रधानमंत्री रोजगार सृजन कार्यक्रम में 18 हजार 490 रोजगार सृजित। 12 लाख से अधिक युवाओं का पंजीकरण । 9.48 लाख से अधिक युवा प्रशिक्षित तथा 3. 50 लाख से अधिक युवा सेवायोजित।
मुख्यमंत्री युवा स्वरोजगार योजनान्तर्गत उद्योग स्थापना के लिए 25 लाख तक एवं सेवा क्षेत्र के लिए 10 लाख तक ऋण।