योगी राज में लॉकडाउन की तैयारी पूरी, कहीं नहीं होगी खाद्य पदार्थों की दिक्‍कत

yogi

: सीएम के नेतृत्‍व में प्रशासनिक टीम ने तैयार किया ब्‍लूप्रिंट : लखनऊ : प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के संदेश के बाद पूरे देश को 21 दिन के लिये लॉकडाउन कर दिया गया है। अन्‍य राज्‍यों के साथ यह लॉकडाउन उत्‍तर प्रदेश में भी जारी रहेगा। हालांकि यूपी के मुख्‍यमंत्री योगी (Yogi) आदित्‍यनाथ ने मोदी की घोषणा से पहले ही उत्‍तर प्रदेश के सभी जिलों को लॉकडाउन करने का आदेश जारी कर दिया था। लॉकडाउन से होने वाली परेशानी को देखते हुए योगी (Yogi) सरकार में पहले से ही तैयारियां पूरी कर ली थीं।

लॉकडाउन में किसी को खाने की परेशानी ना हो इसके लिये फूड की होम डिलेवरी जारी रखी जायेगी।  इसके तहत मंडी परिषद एवं मंडी समितियों द्वारा अन्य राज्यों एवं भारत सरकार के समन्यव से ऐसी आवश्यक खाद्य सामग्री, जिसकी आपूर्ति अन्य राज्यों से होती है, उसकी आवक पर निगरानी रखी जाएगी। उत्पादन एवं विपणन एसोसिएशन के माध्यम से जिलों मे आवश्यक खाद्य सामग्री सप्लाइ चेन में इनका उपयोग किया जाएगा।

(YOGI) योगी ने शुरू की श्रमिक भरण-पोषण योजना, 20 लाख मजदूरों दी गई पहली किस्‍त

राज्‍य में होम डिलेवरी करने वाले होटल, रेस्टोरेंट और डिब्बा फूड को बढ़ावा दिया जाएगा, लेकिन इस बात का विशेष ध्यान रखा जाएगा कि इन जगहों पर आम लोग एकत्र न होने पाए। प्रदेश के सभी जिलाधिकारियों को यह निर्देशित किया गया है कि वह पुलिस आयुक्त/एसएसपी/एसपी से समन्यव करते हुए ड्यूटी पर कार्यरत पुलिस अधिकारी एवं कार्मिकों को डोर-स्टेप व्यवस्था की समुचित जानकारी उपलब्ध कराएं और व्यवस्था का संचालन सुचारू रूप से कराए जाने में सहयोग हेतु लोगों को प्रेरित कराएं।

सरकार सभी जिलों में स्थापित होने वाले कंट्रोल रूम में आवश्यक खाद्य सामग्री की आपूर्ति के लिए मंडी, दुग्ध, कृषि, उद्यान, पशुपालन, खाद्य आपूर्ति के अधिकारियों की स्थानीय स्तर पर कुशल समन्वय एवं प्रबंधन के लिए ड्यूटी लगाई जाएगी। इस बाबत बने कंट्रोल रूम का नम्बर नागरिकों में प्रसारित किया जाएगा ताकि जिला प्रशासन को भी उक्त व्यवस्था में बेहतर प्रबंध के लिए जनता से फीडबैक प्राप्त हो सके।

योगी सरकार की तैयारियों को देखते हुए इसकी संभावना अत्‍यन्‍त कम है कि कहीं भी खाद्य पदार्थों की आपूर्ति में परेशानी आयेगी। सरकार ने कालाबाजारी करने वालों को चेतावनी जारी की है। अगर राज्‍य में कहीं भी कालाबाजारी करने की शिकायत मिलेगी तो संबंधित व्‍यक्ति के खिलाफ कानूनी कार्रवाई भी की जायेगी।