आप तो पांच हजार रुपये देने से भी चूक गये अखिलेश बाबू :अमित शाह

लखनऊ। केंद्रीय गृह मंत्री और भारतीय जनता पार्टी के पूर्व अध्यक्ष अमित शाह ने शुक्रवार को यहां पार्टी की सदस्यता अभियान की शुरुआत की और विपक्षी दलों खास कर सपा पर निशाना साधा और कहा कि ये अखिलेश एंड कंपनी हमें ताने मारती थी कि मंदिर वहीं बनाएंगे तिथि नहीं बताएंगे लेकिन अब तो मंदिर की नींव डाल दी। आप तो पांच हजार रुपये देने से भी चूक गये अखिलेश बाबू। कार्यकर्ताओं को उत्साहित करते हुए उन्होंने कहा, आप (प्रधानमंत्री नरेंद्र) मोदी को आशीर्वाद देते हैं, वोट देते हैं तो वह तीन गुना वापस लौटाते हैं। किसी को कल्पना नहीं थी कि अयोध्या में राम मंदिर बनेगा लेकिन मोदी ने शिलान्यास कर दिया। हम राम लला का मंदिर वहीं बनाएंगे।

शाह ने कहा ये अखिलेश एंड कंपनी हमें ताने मारती थी कि मंदिर वहीं बनाएंगे, तिथि नहीं बताएंगे लेकिन अब तो मंदिर की नींव डाल दी। आप तो पांच हजार रुपये (मंदिर के लिए सहयोग राशि) देने से भी चूक गये अखिलेश बाबू। शाह ने कहा कि मैं याद दिलाने आया हूं कि आपकी पार्टी (सपा) की सरकार थी जिसने राम भक्तों को गोलियों से भून दिया। यही फर्क है परिवारवादी पार्टियां और भाजपा में। उन्होंने कहा भाजपा का वादा था कि कश्मीर से 370 हटाएंगे और इसके लिए हमारे पहले अध्यक्ष श्‍यामा प्रसाद मुखर्जी ने कश्मीर की धरती पर बलिदान दिया। हर बार हम घोषणा पत्र में इसे रखते और सोचते कब पूरा होगा।
2019 में पूर्ण बहुमत मिला और हमने अनुच्छेद 370 और 35 ए को उखाड़ फेंका। भारत माता का मुकुट मणि आज हमेशा के लिए भारत के साथ जुड़़ गया और भारत का अभिन्न अंग बन गया।

शाह ने सपा और बसपा के साथ गांधी और वाद्रा परिवार पर भी हमला बोला। कांग्रेस पर निशाना साधते हुए उन्होंने कहा कि गांधी वाद्रा परिवार सुने, इसके लिए हिसाब लेकर आया हूं। कुछ ऐसे होते हैं जो चुनावी मेंढक की तरह चुनाव के वक्त बाहर आते हैं। विपक्षी दलों पर हमला बोलते हुए शाह ने कहा, उप्र में कई साल तक सपा और बसपा, बसपा और सपा का खेल चलता रहा और इस खेल ने उत्तर प्रदेश को बबार्द कर दिया। पश्चिमी उप्र में कैराना से पलायन शुरू हुआ था और यहां लखनऊ में हुक्मरानों की नींद नहीं उड़ती थी। आज कहने आया हूं कि आज किसी की हिम्मत नहीं है पलायन कराने की क्योंकि पलायन कराने वालों का पलायन हो चुका है। उन्होंने कहा कि 2017 से पहले सपा-बसपा के खेल में उप्र में कानून व्यवस्था के बुरे हाल थे जिसे देखकर मेरा खून खौल जाता था। आज दूरबीन लेकर ढूंढता हूं तो कहीं कोई बाहुबली नजर नहीं आता। शाह ने कहा कि भाजपा के 86 लाख कार्यकर्ता इस बूथ सदस्यता अभियान में लगे हैं और भाजपा का सदस्यता अभियान आज से शुरू होकर दिसंबर तक चलेगा।

गृह मंत्री ने विधानसभा चुनाव के लिए जनता से संपर्क कर उनकी इच्छा से चुनाव घोषणा पत्र बनवाने का दावा करते हुए कार्यकर्ताओं से कहा, ये भाजपा है जो लोगों की बातों को जानती है, जो आप लेकर आएंगे पार्टी को देंगे उसे धर्मेंद्र प्रधान (चुनाव प्रभारी) और स्‍वतंत्र देव (प्रदेश अध्यक्ष) संकलित कर घोषणा पत्र बनाएंगे।’’ उन्होंने कहा, हमारे यहां घोषणा पत्र कोई एनजीओ नहीं बनाता, लाखों करोड़ों जनता से संपर्क कर उनकी इच्छा का घोषणा पत्र बनाते हैं। गृह मंत्री ने अधिकरण सेवा के सदस्य रहे दीनानाथ श्रीवास्तव, बीटेक छात्रा अंजलि चौधरी, दीपा,अन्‍तर्राष्‍ट्रीय खिलाड़ी आनन्‍द प्रकाश गुप्ता और बी फार्मा के छात्र अंतिम द्विवेदी को भाजपा की सदस्यता का कार्ड दिया।

कार्यक्रम को मुख्‍यमंत्री योगी आदित्‍यनाथ एवं प्रदेश भाजपा अध्यक्ष स्वतंत्र देव सिंह समेत अन्य लोगों ने भी संबोधित किया। इससे पहले शाह शुक्रवार को सुबह करीब 11 बजे चौधरी चरण सिंह विमानतल लखनऊ पहुंचे, जहां पर मुख्‍यमंत्री योगी आदित्‍यनाथ, भाजपा प्रदेश अध्यक्ष स्वतंत्र देव सिंह और उप मुख्‍यमंत्री केशव प्रसाद मौर्य समेत कई प्रमुख नेताओं और मंत्रियों ने शाह का स्वागत किया। वह विमानतल से सीधे डिफेंस एक्सपो मैदान पहुंचे और वहां पार्टी के सदस्यता अभियान की शुरुआत के बाद उन्होंने ‘मोदी इलेवन’ एप का भी अनावरण किया।